कर्ज में डूबे किसानों के लिए राहत का प्रमाणपत्र 17 अगस्त से

0
54

लखनऊ | उत्तर प्रदेश के आधार कार्ड से जुड़े और कर्ज में डूबे किसान अब रहत की सांस ले सकते है | दरसअल 17अगस्त से किसानों के ऋण माफी का कार्य शुरू हो जायेगा | लखनऊ से इस ऋण माफी योजना की शुरुआत होगी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ राजधानी के स्मृति उपवन में किसानों को ऋण माफी के प्रमाण पत्र प्रदान करेंगे।

ऋण का वितरण तीन से चार चरणों में किया जायेगा | इस कार्यक्रम में लगभग साढ़े नौ हजार किसानों को ऋण माफी प्रमाण पत्र दिए जाएंगे जिनके आधार से लिंक्ड रजिस्टर्ड है ।  इसके बाद इसी तरह के कार्यक्रम आयोजित कर प्रभारी मंत्री से लेकर सांसद, विधायक व जन प्रतिनिधियों की ओर से किसानों के बीच ऋण माफी प्रमाण पत्र वितरित किए जाएंगे।

इसके बाद गैर आधार वाले लेकिन जिनके ऋण को लेकर कोई विवाद न हो उनके लोन माफ होंगे। अन्तिम चरण में भू-लेखों के अनुसार विवादित किसानों मसलन एक भूमि के कई हिस्सेदार होने के कारण ऋण माफी की दावेदारी करने वाले अधिक लोगों के ऋण माफी की कार्यवाही की जाएगी। सरकार ने इस योजना के क्रियान्वयन के लिए जिले स्तर पर डीएम की अध्यक्षता में एक समिति बना दी है जिसका सचिव सीडीओ को बनाया गया है | लेकिन जिला कृषि अधिकारी को उप सचिव का दर्जा देते हुए ऋण माफी की कुल राशि जिला कृषि अधिकारी के खाते में भेज जाएगी जिससे कृषि विभाग के रिकार्ड में दर्ज रजिस्टर्ड किसानों के आधार पर योजना के धन का पूरा ब्यौरा संकलित हो सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here